चंद्रयान-3 के माध्यम से प्राप्त होने वाले सफलता के बाद इसरो के वैज्ञानिकों से 5 गुना ज्यादा नासा साइंटिस्ट की सैलरी –

ISRO वैज्ञानिकों की सैलरी: चंद्रयान-3 के महत्वपूर्ण उपलब्धि के बाद, पूर्व ISRO प्रमुख जी माधवन नायर ने बताया कि भारतीय वैज्ञानिकों की सैलरी नासा के साइंटिस्टों की सैलरी से 5 गुना कम होती है। इसके बावजूद, इसरो के वैज्ञानिक चंद्रयान-3 मिशन के सफल प्रक्षेपण से आगे बढ़े हैं।

चंद्रयान-3 से सबसे आगे बढ़कर इसरो वैज्ञानिकों से 5 गुना ज्यादा नासा साइंटिस्ट की सैलरी:

भारत के चंद्रयान-3 मिशन की सफलता से प्रसन्न इसरो के पूर्व प्रमुख, माधवन नायर, ने कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी के वैज्ञानिकों की पगार विकासित देशों के वैज्ञानिकों के वेतन का 5वां हिस्सा होता है और शायद यही कारण है कि वे अंतरिक्ष अन्वेषण के लिए किफायती तरीके से तलाश सकते हैं। नायर ने कहा कि इसरो में वैज्ञानिकों, तकनीशियनों और अन्य कर्मचारियों को जिन वेतन और भत्ते मिलते हैं, वे उन विकसित देशों के वैज्ञानिकों के वेतन के पांचवें हिस्से के बराबर होते हैं। इसका एक बड़ा लाभ भी है। ISRO के वैज्ञानिक वास्तव में किसी भी तरह के लखपति नहीं होते और वे बेहद सामान्य जीवन जीते हैं।

NASA वैज्ञानिकों की सैलरी:

NASA वैज्ञानिकों की सैलरी सालाना $72,416 (लगभग 57 लाख रुपये) होती है। विशिष्ट ISRO वैज्ञानिकों की उच्चतम सैलरी मासिक Rs. 75,500 से Rs. 80,000 तक होती है। ISRO वैज्ञानिकों की सैलरी: कड़ी मेहनत के बाद इसरो में काम करने वाले इंजीनियर और वैज्ञानिकों के चयनित पदों के लिए मासिक वेतन Rs. 15,600 से Rs. 39,100 के बीच होता है, जिसमें विभिन्न भत्ते और लाभ शामिल होते हैं।

NASA वैज्ञानिकों की सबसे ऊंची सैलरी -:

NASA वैज्ञानिकों की सबसे ऊंची सैलरी के बारे में यथार्थ जानकारी उपलब्ध नहीं है, लेकिन उन्हें अनुभव और पदोन्नति के साथ उच्चतम वेतन मिलता है।

चंद्रयान-3 की सफलता ने ISRO को आगे बढ़ा दिखाया है, जिसमें भारतीय वैज्ञानिकों और अभियंताओं का माहिराना योगदान है। ISRO वैज्ञानिकों की समर्पणा ने भारत को अंतरिक्ष अन्वेषण में उल्लेखनीय मील के करीब ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इन अद्वितीय प्रयासों ने न केवल वैज्ञानिक समुदाय को प्रेरित किया है, बल्कि भारतीय अंतरिक्ष क्षेत्र में एक नई परिप्रेक्ष्य और स्वागत का दरवाजा खोला है। आगे बढ़कर, इसरो वैज्ञानिकों की उच्च स्तरीय समर्पणा से हमें और भी उच्च उड़ानें चढ़ने का अवसर मिलेगा, जो न केवल वैज्ञानिक समुदाय की मानवता के प्रति प्रतिबद्धता को प्रकट करेगा, बल्कि भारत को विश्व में एक महत्वपूर्ण अंतरिक्ष शक्ति के रूप में और भी मजबूती से प्रस्तुत करेगा।

इसरो वैज्ञानिक पद और वेतन

प्रतिष्ठित वैज्ञानिक : 75,500 – 80,000 रुपये

उत्कृष्ट वैज्ञानिक : 67,000- 79,000 रुपये

साइंटिस्ट/इंजीनियर- एच एंड जी : 37,400 – 67,000 रुपये

साइंटिस्ट/इंजीनियर- एसजी : 37,400 – 67,000 रुपये

साइंटिस्ट/इंजीनियर- एसएफ : 37,400 – 67,000 रुपये

साइंटिस्ट/इंजीनियर- एसई और एसडी : 15,600 – 39,100 रुपये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *